पोरबंदर में घूमने के लिए प्रमुख आकर्षण स्थल।

पोरबंदर में घूमने के लिए प्रमुख आकर्षण स्थल।

Top Attractions To Visit In Porbandar.

पोरबंदर की इन खूबसूरत जगहों को एक बार जरूर करे एक्सप्लोर।

  • Tourism
  • 599
  • 10, Mar, 2023
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

Top Attractions To Visit In Porbandar.

Porbandar

पोरबंदर गुजरात राज्य के दक्षिण छोर पर अरब सागर से घिरा हुआ है। पोरबंदर जिले का निर्माण जूनागढ़ से हुआ था। पोरबंदर महात्मा गाँधीजी का जन्म स्थान है इसलिए स्वाभाविक रूप से पोरबंदर में उनके जीवन से जुड़े कई स्थान हैं जो आज दर्शनीय स्थलों में बदल चुके हैं।

पोरबंदर आने वाले पर्यटकों को यहाँ कई दर्शनीय मंदिर, बांध, वन्यजीव अभ्यारण, सुंदर समुद्र तट, ऐतिहासिक महल आदि भी देखने को मिलेंगे। जहां हर महीने हजारों देशी और विदेशी सैलानी घूमने के लिए पहुंचते रहते हैं।  

पोरबंदर बीच 

500

वेरावल और द्वारका नगरी के बीच में मौजूद पोरबंदर बीच शांत और आकर्षित समुद्री लहरों के लिए काफी फेमस है। सबसे आकर्षित स्थानों में शामिल पोरबंदर बीच शहर का सबसे अधिक घूमे जाने वाला स्थान है।

महात्मा गांधी जन्म स्थल

महात्मा गांधी जन्म स्थल

पोरबंदर के साथ-साथ पूरे गुजरात में सबसे अधिक घूमे जाने वाला और पसंद की जाने वाली जगह महात्मा गांधी जन्म स्थल है। यहां आप बापू से जुड़े एक नहीं बल्कि कई सामान को करीब से देख सकते हैं। कहा जाता है कि यहां उसके बचपन की सभी चीजों को संरक्षित करने रखा गया है।

घुमली

घुमली

पोरबंदर का घुमली एक बेहद ही फेमस और प्राचीन जगह है। कहा जाता है कि घुमली जगह 12वीं-13वीं शताब्दी के दौरान सैंधव और फिर सौराष्ट्र के जेठवा राजवंश की राजधानी के रूप में जानी जाती थी। 

श्री हरि मंदिर,पोरबंदर

श्री हरि मंदिर,पोरबंदर

श्री हरि मंदिर पोरबंदर के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक हैं जोकि यहाँ के प्रमुख आकर्षण में शामिल हैं। श्री हरी मंदिर ऋषिकुल के छात्रों वैदिक शिक्षा और व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करता हैं।

कृष्ण सुदामा मंदिर पोरबंदर

कृष्ण सुदामा मंदिर,पोरबंदर

पोरबंदर का दार्शनिक कृष्ण सुदामा मंदिर भगवान श्री कृष्ण और उनके बाल सखा सुदामा जी को समर्पित हैं। मंदिर का निर्माण 1902 और 1907 के दौरान जेठवा राजवंश के श्री राम देवजी जेठवा ने करबाया था। सफेद पत्थर से बना यह आकर्षित मंदिर पर्यटकों को अपनी ओर खीचता हैं।

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat