CRISIL की रेटिंग एजेंसी का दावा है कि भारत की इकोनॉमी 6.7 प्रतिशत की दर से भागेगी।

CRISIL की रेटिंग एजेंसी का दावा है कि भारत की इकोनॉमी 6.7 प्रतिशत की दर से भागेगी।

CRISIL rating agency claims that India's economy will grow at the rate of 6.7 percent.

क्रिसिल की हालिया रिपोर्ट में यह अनुमान जताया गया है कि 2024 से लेकर 2031 तक भारत की जीडीपी 6.7 प्रतिशत की दर से बढ़ती रहेगी।

  • Global News
  • 109
  • 03, Feb, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

CRISIL rating agency claims that India's economy will grow at the rate of 6.7 percent.

CRISIL ने भारतीय अर्थव्यवस्था पर पूरा भरोसा जताया है। क्रिसिल की हालिया रिपोर्ट में यह अनुमान जताया गया है कि 2024 से 2031 तक भारतीय अर्थव्यवस्था की औसत वार्षिक वृद्धि दर 6.7 फीसदी रहने की उम्मीद है। रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 2023-24 से 2030-31 के बीच अर्थव्यवस्था इस दर से बढ़ेगी। यह दर पहले की औसत वृद्धि दर 6.6 फीसदी से थोड़ी अधिक है। क्रिसिल के अनुसार, इस प्रवृत्ति में पूंजी का मुख्य योगदान होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार ने निर्माण गतिविधियों का समर्थन करने के लिए कैपिटल एक्सपेंडिचर में उल्लेखनीय वृद्धि की है और राज्यों के निवेश प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए ब्याज फ्री लोन दे रही है। क्रिसिल ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में 7.3 फीसदी की मजबूत वृद्धि के बाद, अगले वित्त वर्ष में इसके 6.4 फीसदी रहने का अनुमान है। रिपोर्ट के मुताबिक, आरबीआई ब्याज दर के मोर्चे पर सतर्क रहेगा, क्योंकि उसकी नजर महंगाई को 4 फीसदी के स्तर पर लाने पर रहेगी।

हाल ही में अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने कहा कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर मजबूत बने रहने की उम्मीद है और यह वित्त वर्ष 2024-2025 में 6.5 फीसदी रहने की संभावना है। आईएमएफ ने विश्व आर्थिक परिदृश्य पर ताजा रिपोर्ट में वैश्विक वृद्धि दर 2024 में 3.1 फीसदी और 2025 में 3.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया है।

CRISIL की रेटिंग एजेंसी का दावा है कि भारत की इकोनॉमी 6.7 प्रतिशत की दर से भागेगी।

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat