लोन की ब्याज दरों में हुई कटौती, जानें कब से लागू होगा नया नियम।

लोन की ब्याज दरों में हुई कटौती, जानें कब से लागू होगा नया नियम।

Loan interest rates have been reduced, know when the new rule will be implemented.

HDFC बैंक ने लोन ग्राहकों के लिए बड़ी खबर दी है। बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड उधार दर (MCLR) में बदलाव किया है, जिससे लोन की ब्याज दरें कम हो जाएंगी। यह नई दरें 7 जून 2024 से लागू हो गई हैं।

  • Business
  • 93
  • 08, Jun, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

Loan interest rates have been reduced, know when the new rule will be implemented.

लोन ईएमआई: बैंक ने लोन लेने वाले ग्राहकों के लिए एक बड़ी खबर का ऐलान किया है। बता दें, अब आपके लोन की ईएमआई कम हो जाएगी। जानिए कितना और कब से शुरू होंगे ये नए नियम।

MCLR में बदलाव

बैंक ने लोन के ग्राहकों के लिए बड़ा ऐलान किया है। मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड उधार दर (MCLR) में बदलाव किया गया है, जिससे आपकी लोन की ब्याज दर कम हो जाएगी। आगे जानिए कि किस बैंक ने कब से और कितनी कटौती की है। हम बात कर रहे हैं HDFC बैंक की। HDFC बैंक ने 2 साल की अवधि पर उधार दर में 5 आधार अंक की कटौती की है, जिससे यह 9.35% से घटकर 9.30% हो गई है। हालांकि, बाकी अवधियों के लिए दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। आगे जानिए कि इसका आपके लोन पर क्या असर पड़ेगा।

7 जून से लागू

ये नई दरें 7 जून 2024 से लागू हो चुकी हैं। बैंक का बेंचमार्क MCLR अब विभिन्न अवधियों के लिए 8.95% से 9.35% के बीच है। जानिए कौन सी अवधि की कितनी दर है। HDFC बैंक का ओवरनाइट MCLR 8.95%, 1 महीने का 9%, 3 महीने का 9.15% और 6 महीने का MCLR 9.30% है। इस तरह बांटे गए ईएमआई पॉलिसीज 1 साल का MCLR अब भी 9.30% है, वहीं 2 साल का MCLR भी अब 9.30% हो गया है। इसके अलावा प्राइवेट बैंक ने 3 साल की दर 9.35% पर रखी हुई है।

MCLR वह न्यूनतम ब्याज दर होती है जिस पर एक बैंक उधार दे सकता है। इसकी गणना विभिन्न कारकों जैसे फंड की सीमांत लागत, परिचालन लागत और कार्यकाल प्रीमियम के आधार पर की जाती है। कम MCLR का मतलब है कि ईएमआई या लोन की अवधि में कमी आएगी। हालांकि, प्रभाव तत्काल नहीं होगा।

News Reference

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat