5.55 लाख करोड़ रुपए बढ़ी 448 इंफ्रा प्रोजेक्ट्स की लागत, 792 प्रोजेक्ट्स में देरी।

5.55 लाख करोड़ रुपए बढ़ी 448 इंफ्रा प्रोजेक्ट्स की लागत, 792 प्रोजेक्ट्स में देरी।

448 infrastructure projects' cost overrun of Rs 5.55 lakh crore, 792 projects delayed.

अप्रैल 2024 में, 150 करोड़ रुपए से ज्यादा के कम से कम 448 इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की लागत में 5.55 लाख करोड़ रुपए की बढ़ोतरी हुई।

  • Business
  • 83
  • 10, Jun, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

448 infrastructure projects' cost overrun of Rs 5.55 lakh crore, 792 projects delayed.

एक आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार, अप्रैल 2024 में 150 करोड़ रुपए से ज्यादा के कम से कम 448 इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की लागत में कुल 5.55 लाख करोड़ रुपए की बढ़ोतरी हुई। सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) 150 करोड़ रुपए और उससे अधिक के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की निगरानी करता है। 1,838 परियोजनाओं में से 448 की लागत में वृद्धि हुई और 792 परियोजनाओं में देरी हुई। ये प्रोजेक्ट्स कई कारणों से लेट हुए हैं, जिनमें भूमि अधिग्रहण, पर्यावरण मंजूरी, वित्तीय मुद्दे, आंतरिक मुद्दे, जनशक्ति की कमी और मुकदमेबाजी के मुद्दे शामिल हैं।

1,838 प्रोजेक्ट्स की कुल मूल लागत 27,64,246.50 करोड़ रुपए थी और उनकी अनुमानित पूर्ण लागत 33,19,601.84 करोड़ रुपए होने की संभावना है। अप्रैल 2024 के लिए मंत्रालय की नवीनतम रिपोर्ट से पता चला कि यह 5,55,355.34 करोड़ रुपए (मूल का 20.09 फीसदी) की कुल लागत वृद्धि को दर्शाती है।

प्रोजेक्ट्स में 60 महीने तक की देरी

रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल 2024 तक इन प्रोजेक्ट्स पर खर्च 1,692,997.5 करोड़ रुपए है, जो प्रोजेक्ट्स की अनुमानित लागत का 51 फीसदी है। हालांकि, अगर नवीनतम शेड्यूल कम्प्लीशन के आधार पर देखा जाए, तो विलंबित प्रोजेक्ट्स की संख्या घटकर 514 हो जाती है। विलंबित 792 प्रोजेक्ट्स में से 220 में कुल मिलाकर 1-12 महीने की देरी है, 192 में 13-24 महीने की देरी है, 259 परियोजनाओं में 25-60 महीने की देरी है, और 121 परियोजनाओं में 60 महीने से ज्यादा की देरी है।

News Reference

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat