कल शपथ और आज इस्तीफा? कौन हैं BJP सांसद सुरेश गोपी, क्यों छोड़ना चाहते हैं मोदी कैबिनेट 3.0?

कल शपथ और आज इस्तीफा? कौन हैं BJP सांसद सुरेश गोपी, क्यों छोड़ना चाहते हैं मोदी कैबिनेट 3.0?

Oath yesterday and resignation today? Who is BJP MP Suresh Gopi, why does he want to leave Modi Cabinet 3.0?

केरल के त्रिशूर से बीजेपी सांसद सुरेश गोपी ने मोदी सरकार 3.0 में मंत्री पद से इस्तीफा देने की इच्छा जाहिर की है। उन्होंने हाल ही में राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली थी, लेकिन अब वे अपने फिल्मी प्रोजेक्ट्स पर ध्यान देने के लिए मंत्री पद से मुक्त होना चाहते हैं।

  • National News
  • 124
  • 10, Jun, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

Oath yesterday and resignation today? Who is BJP MP Suresh Gopi, why does he want to leave Modi Cabinet 3.0?

नई दिल्ली: मोदी सरकार 3.0 में मंत्रालय के बंटवारे से पहले ही मंत्री पद छोड़ने की खबरें सामने आ रही हैं। केरल के त्रिशूर लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद सुरेश गोपी मोदी सरकार में मंत्री पद छोड़ना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार, उन्होंने अपना इस्तीफा देने की इच्छा जाहिर की है और केंद्रीय नेतृत्व को अपनी मंशा बता दी है। सुरेश गोपी ने रविवार को राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली थी, लेकिन इसके बाद उन्होंने कहा था कि वे मंत्री नहीं रहना चाहते और उन्हें मंत्री पद से मुक्त किया जाए।

मनोरमा न्यूज से बातचीत में सुरेश गोपी ने बताया कि वे मंत्री पद छोड़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि मुझे केंद्रीय मंत्रिमंडल से मुक्त कर दिया जाएगा। मुझे अपनी फिल्में पूरी करनी हैं। केंद्रीय नेतृत्व को फैसला करने दीजिए। सांसद के तौर पर मैं त्रिशूर में अपनी क्षमता के अनुसार सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा। मैंने कहा था कि मुझे कैबिनेट पद नहीं चाहिए।’

केरल में सुरेश गोपी ने भाजपा का खाता खोला

सुरेश गोपी केरल के इकलौते भाजपा सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान ‘ट्रोल’ किए गए थे। ‘एक्शन हीरो’ सुरेश गोपी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के टिकट पर त्रिशूर सीट जीतकर केरल में भाजपा के लिए इतिहास रच दिया था।

केरल में भाजपा का दशकों का संघर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में रंग लाया और सुरेश गोपी के जरिये भारतीय जनता पार्टी का आखिरकार खाता खुला। पहले रह चुके हैं राज्यसभा सांसद जीत के बाद भी गोपी की राजनीतिक पारी में उतार-चढ़ाव देखने को मिले। उन्होंने शुरू में केंद्र सरकार में मंत्री पद स्वीकार करने की अनिच्छा दिखाई थी। वे दो दिन पहले दिल्ली में एनडीए सांसदों की बैठक में भाग लेने के बाद केरल लौट आए थे, लेकिन रविवार को उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फोन आया और तुरंत दिल्ली पहुंचने को कहा गया। सुरेश गोपी ने रविवार शाम राष्ट्रीय राजधानी में केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली।

लोकसभा के लिए चुने जाने से पहले गोपी को 2016 में राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया था और उनका कार्यकाल 2022 तक रहा।

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat