किसके लिए कितनी महंगी हो गई दिल्ली में बिजली, आखिर क्यों बढ़े राजधानी में इलेक्ट्रिसिटी के रेट।

किसके लिए कितनी महंगी हो गई दिल्ली में बिजली, आखिर क्यों बढ़े राजधानी में इलेक्ट्रिसिटी के रेट।

For whom has electricity become so expensive in Delhi, why has the electricity rate increased in the capital

दिल्ली में बिजली के दाम बढ़ गए हैं, जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। PPAC की दरों में बदलाव के कारण 1 मई से बढ़े हुए रेट लागू होंगे। बिजली वितरण कंपनियों BRPL, BYPL, TPDDL, और NDMC के उपभोक्ताओं को अब ज्यादा भुगतान करना पड़ेगा, हालांकि बिजली के बेस प्राइस में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

  • National News
  • 88
  • 10, Jul, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

For whom has electricity become so expensive in Delhi, why has the electricity rate increased in the capital

नई दिल्ली। दिल्ली में एक बार फिर बिजली के बढ़े हुए दाम लोगों को परेशान करने वाले हैं। PPAC की दरों में बदलाव होने की वजह से दिल्ली में रेट बढ़ गए हैं। ये बढ़े हुए रेट 1 मई से लागू माने जाएंगे। कई लोगों को पहले से बढ़े हुए बिजली के बिल मिल रहे हैं। जिनके बिल में अभी वृद्धि नहीं हुई है, उन्हें भी जुलाई से बढ़ा हुआ बिजली बिल मिल सकता है। बता दें कि इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमीशन यानी डीईआरसी ने बिजली के बेस प्राइस में कोई बदलाव नहीं किया है। इसके बावजूद लोगों को बिजली के लिए अधिक रकम चुकानी होगी।

यह बदलाव PPAC की दरों में परिवर्तन के कारण हो रहा है। PPAC यानी पावर परचेज एग्रीमेंट कॉस्ट। बिजली वितरण कंपनियां (डिस्कॉम) इलेक्ट्रिसिटी खरीदते समय जो भुगतान करती हैं उसमें एक कॉम्पोनेंट PPAC भी होता है। खरीद की कीमत में किसी भी तरह का बदलाव इसके जरिए दर्शाया जाता है। इस बदलाव का कारण रेग्युलेटरी पॉलिसी और ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी-घटोतरी जैसे अन्य कई कारण हो सकते हैं। PPAC बढ़ने से डिस्कॉम के लिए बिजली खरीदना महंगा हो जाता है। इस अतिरिक्त दबाव को कंपनियां ग्राहकों पर बढ़े हुए बिजली बिल के रूप में शिफ्ट करती हैं।

दिल्ली के डिस्कॉम रेट में कहां कितनी वृद्धि होगी यह समझने से पहले यह जानना जरूरी है कि दिल्ली में बिजली वितरित कौन करता है। दिल्ली में 4 बिजली वितरण कंपनियां हैं:

  1. BSES राजाधानी पावर लिमिटेड (BRPL) - यह साउथ और वेस्ट दिल्ली में बिजली सप्लाई करती है।
  2. BSES यमुना पावर लिमिटेड (BYPL) - यह ईस्ट और मध्य दिल्ली में बिजली सप्लाई करती है।
  3. टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड (TPDDL) - यह दिल्ली के 510 वर्ग किलोमीटर के एरिया में बिजली सप्लाई करती है।
  4. नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (NDMC) - यह दिल्ली के सबसे पॉश इलाकों में बिजली सप्लाई करती है।

बढ़े हुए रेट इस प्रकार हैं:

  • BRPL के उपभोक्ता को 0-200 यूनिट के लिए अब 3 की बजाय 4.07 रुपये प्रति यूनिट देने होंगे। 201-400 यूनिट खर्च करने पर 6.11 रुपये (पहले 4.50 रुपये) और 1200 यूनिट से ज्यादा खर्च करने वालों को 10.47 रुपये (पहले 8 रुपये) देने होंगे।
  • BYPL के यूजर्स को 0-200 यूनिट के लिए 4.12 रुपये, 201-400 यूनिट के लिए 6.18 रुपये और 1200 से अधिक यूनिट के लिए 11 रुपये प्रति यूनिट चुकाने होंगे।
  • टाटा के उपभोक्ताओं को 0-200 यूनिट के लिए 4.14 रुपये, 200-400 यूनिट के लिए 6.20 रुपये और 1200 यूनिट से अधिक के लिए 11.03 रुपये प्रति यूनिट का भुगतान करना होगा।
  • NDMC के उपभोक्ताओं को 0-200 यूनिट के लिए 4.16 रुपये, 201-400 यूनिट के लिए 6.24 रुपये और 1200 यूनिट से अधिक के लिए 11.10 रुपये प्रति यूनिट देने होंगे।

News Reference

 
 
Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat