Sensex Closing Bell: अंतरिम बजट ने शेयर बाजार को निराश किया; सेंसेक्स में 106 अंक की गिरावट, निफ्टी 21700 से नीचे चला।

Sensex Closing Bell: अंतरिम बजट ने शेयर बाजार को निराश किया; सेंसेक्स में 106 अंक की गिरावट, निफ्टी 21700 से नीचे चला।

Sensex Closing Bell: Interim Budget disappointed the stock market; Sensex fell by 106 points, Nifty below 21700.

गुरुवार को दोपहर 3:30 बजे तक बीएसई सेंसेक्स में 106.81 अंकों की गिरावट देखी गई और यह 71,645.30 पर बंद हुआ, जबकि एनएसई निफ्टी 28.25 अंक गिरकर 21,697.45 पर आ गया।

  • Global News
  • 177
  • 01, Feb, 2024
Jyoti Ahlawat
Jyoti Ahlawat
  • @JyotiAhlawat

Sensex Closing Bell: Interim Budget disappointed the stock market; Sensex fell by 106 points, Nifty below 21700.

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार (1 फरवरी) को वित्त वर्ष 2024-25 के लिए अंतरिम बजट प्रस्तुत किया। शेयर बाजार को बजट से काफी उम्मीदें थीं, लेकिन बाजार ने बजट को नाकाम बनाया। अंतरिम बजट के दिन बाजार में भारी वॉलेटिलिटी देखने को मिली और अंत में सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में बंद हुआ। कारोबार के अंत में तीस शेयरों पर आधारित बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स (Sensex) 107 अंक यानी 0.15 फीसदी की गिरावट के साथ 71,645.30 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 28.25 अंक यानी 0.13 फीसदी की गिरावट के साथ 21,697.45 के स्तर पर बंद हुआ।

गुरुवार के कारोबार में मारुति सुजुकी, सिप्ला, इचर मोटर्स और पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन निफ्टी के शीर्ष गेनर रहे। वहीं अल्ट्रा टेक सीमेंट, एल एंड टी, डॉ. रेडीज लेबोरेटरीज, जेएसडब्ल्यू स्टील और ग्रासिम इंडस्ट्रीज निफ्टी के शीर्ष हानिकारक रहे। 31 जनवरी को बाजार हरे निशान पर बंद हो गया था।

पिछले कारोबारी सत्र, अर्थात् 31 जनवरी को कारोबार के अंत में बीएसई सेंसेक्स 612.21 अंक यानी 0.86 फीसदी की तेजी के साथ 71,752.11 अंक पर बंद हुआ था। पचास शेयरों पर आधारित एनएसई निफ्टी 203.60 अंक यानी 0.95 फीसदी की बढ़त के साथ 21,725.70 अंक पर बंद हुआ था। लाभांश के रूप में आरबीआई से 1.02 लाख करोड़ रुपये की प्राप्ति की जा रही है, जो भारतीय सरकार द्वारा अपेक्षित है।

सरकार ने गुरुवार को आने वाले वित्त वर्ष के लिए आरबीआई और सार्वजनिक क्षेत्र के वित्तीय संस्थानों से 1.02 लाख करोड़ रुपये की आय का अनुमान रखा है। सरकार के चालू वित्त वर्ष में 48,000 करोड़ रुपये के बजट अनुमान के बजाय 1.04 लाख करोड़ रुपये का लाभांश प्राप्त करने की उम्मीद है। चालू वित्त वर्ष का अनुमान बजट अनुमान से अधिक है, यहां तक ​​कि आरबीआई ने पिछले साल मई में 87,416 करोड़ रुपये का लाभांश दिया था। पिछले वित्त वर्ष में सरकार ने आरबीआई और सार्वजनिक क्षेत्र के वित्तीय संस्थानों से 39,961 करोड़ रुपये जुटाए थे।

Sensex Closing Bell: अंतरिम बजट ने शेयर बाजार को निराश किया; सेंसेक्स में 106 अंक की गिरावट, निफ्टी 21700 से नीचे चला।

Jyoti Ahlawat

Jyoti Ahlawat

  • @JyotiAhlawat